Tally kya hai? Tally kaise sikhe?

हैलो friends Chouraha.com में आपका स्वागत है आज हम आपको बताने जा रहे है Tally kya hai अगर आप भी Tally kaise sikhe के बारे में जानना  चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह आये है हम आपको इसकी पूरी जानकारी देंगे वो भी हिंदी में।

आप सभी ने Tally के बारे में तो ज़रूर सुना होगा की Tally करना क्यों जरूरी होता है और Tally करने के फायदे क्या होते है अगर आप इसके बारे में नहीं जानते तो हम आपको हमारे आज के Article में इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे।

आप यह तो जानते ही होंगे की आज का समय Computer Technology का है क्योंकि आजकल जितने भी कार्य है चाहे वो अंतरिक्ष में जाने का या किसी सरकारी बैंक में Accounting का सारे कार्य Computer के द्वारा ही किये जाते है।

इसी तरह बड़ी-बड़ी कंपनियों में Accounting से जुड़े कार्यों को करने के लिए अलग-अलग तरह के Software Tool का उपयोग किया है जिनमे से एक बहुत ही फेमस Software Tally है आज आप Tally किसी कहते है और इसे कैसे इस्तेमाल करते है इन सब के बारे में जानेंगे।

 

Tally Kya Hai?

Tally India में सबसे अधिक Use किये जाने वाला Accounting Software है। Tally  का निर्माण एक Multinational Company जिसका नाम Tally Solutions Private Limited है ने किया था। इसका मुख्यालय भारत के बेंगलुरु शहर में स्थित है। आज के समय में इस software का use 10 लाख से ज्यादा लोग करते है।

पहले एक समय हुआ करता था जब लोग व्यापार में होने वाले पैसों के लेन-देन की जानकारी हाथों से लिख कर दस्तावेज़ों में रखते थे लेकिन आज के समय में वित्तीय लेन-देन की जानकारी Computer में रखी जाती है जिसके लिए बहुत से Accounting Software का उपयोग किया जाता है जिनमे सबसे Popular Software Tally है।

Accounting में जब भी किसी Software के इस्तेमाल के बारे में बात की जाती है तब दिमाग में सबसे पहला नाम Tally का ही आता है। इसका इस्तेमाल भारत के अलावा दुनिया के अन्य देशों के द्वारा भी किया जाता है। Tally उपयोग मुख्य रूप से Voucher, Financial Statements, Taxation आदि के लिए किया जाता है।

 

Tally Full Form – Transaction Allowed in a Linear Line Yards

 

History of Tally in Hindi

Friends हमने आपको ऊपर बताया था की Tally का निर्माण Tally Solutions Private Limited के द्वारा बेंगलुरु में किया गया था। लेकिन क्या आप जानते है की इसके जनक कौन थे इसका निर्माण सन 1986 में श्याम सुन्दर गोयनका और उनके बेटे भारत गोयनका ने मिलकर किया था तथा पहले Tally Solutions को Peutronics के नाम से जाना जाता था।

श्याम सुन्दर गोयनका पहले एक कंपनी को चलाया करते थे जिसमे वे दूसरी कंपनियों को कच्चा माल व मशीन Parts Supply करते थे। उस वक्त उनके पास Company को Manage करने के लिए कोई विशेष Software नहीं था तब उन्होंने अपने बेटे से एक ऐसा Software बनाने को कहा जिससे वे Business को आसानी से Manage कर सके।

भारत गोयनका जो की मैथमेटिक्स में graduate थे तब उन्होंने Accounting Application के लिए सबसे पहला संस्करण MS – DOS Application के रूप में Launch किया। इस Software में केवल basic Accounting Function थे जिसका नाम Peutronics Financial Accounting रखा गया।

1988 में Peutronics Product का नाम बदलकर Tally रखा गया।

1997 में Windows आधारित Version Tally 5.4 Launch किया गया।

1999 में Company ने औपचारिक रूप से इसका नाम बदलकर Tally Solution कर दिया।

वर्ष 2001 में Tally का नया Version Tally 6.3 को Launch किया गया इस Version में Accounting के अलावा Educational उद्देश्य से उपयोग करने की योग्यता थी इसके अलावा इसमें License की सुविधा भी दी गयी।

वर्ष 2005 ने इसमें और भी मुख्य feature Value Added Taxation (VAT) को जोड़ा गया यह Tally का 7.2 Version था।

2006 में Tally के दो Version एक Tally 8.1 और दूसरा Tally 9 को जोड़ा गया ये Tally के Concurrent Multilingual Version थे।

2009 में इस Company ने Tally ERP 9 का Business Management Solution Version Launch किया।

2016 में Goods and Service Tax और Taxpayers के बिच Interface प्रदान करने के लिए Tally Solution को GST सुविधा प्रदाता के रूप में चुना गया और 2017 में company ने अपना नया Updated GST Compliance Software Lanuch किया।

Tally Karne Ke Fayde

बहुत से Student 10th Class के बाद इस सोच में पड़े रहते है की पढ़ाई में क्या करे कौन सा विषय हमारे करियर के लिए फ़ायदेमंद है तो आज हम उन Student के लिए Guide करने जा रहे है जिन्होंने 12th Class Commerce Subject से की है उन Student के लिए Tally का Course करना बहुत फ़ायदेमंद साबित हो  सकता है।

वे Student जो गरीब Family से होते है और Doctor, Engineer जैसे बड़े-बड़े Cource करने में सक्षम नहीं होते वे Student Tally का यह Course करके एक अच्छी सी job प्राप्त करते है।

Tally Kaise Sikhe

तो Friends अगर आप Tally करने की सोच रहे है तो यह इतना आसान नहीं और ना ही इतना मुश्किल है। Tally एक ऐसा Software है जिसमे Mouse का उपयोग नहीं किया इसमें सारा काम Keyboard के द्वारा ही करना होता है। अगर आप Commerce के Student है तो आपको इसे सीखने में ज्यादा Problem नहीं आती लेकिन अगर आप कॉमर्स के Student नहीं है तो इसे सीखने में आपको थोड़ी Problem आ सकती है लेकिन जब आप इसके Basic के बारे में सिख जाते है तब आप इसमें आसानी से काम कर सकते है और इसमें आपको मजा भी आएगा।

 

तो चलिए जानते है Tally के कुछ Basic Function के बारे में –

Capital – जब कोई पैसा व्यापार में लगाया जाता है तो उसे Capital या Equity कहा जाता है।

Transaction – व्यापार में वस्तुओं और सेवाओं के लेन-देन की Process को ही Transaction कहा जाता है।

Discount – जब किसी कंपनी का मालिक अपनी कंपनी के उत्पाद को बढ़ाने के लिए Product और Service पर अपने Customer को कुछ रकम वापस देता है तो उसे ही Discount कहते है। Discount दो तरह के होते है।

  1. Trade Discount
  2. Cash Discount

Liability – यह वह होती है जो किसी व्यक्ति के द्वारा कर्ज एक रूप में ली जाती है।

Assets – व्यापार से जुड़े जितनी भी चीजें होती है वो सभी Assets यानि सम्पत्ति होती है।

 

Final Word

तो Friends कैसा लगा आपको हमारा आज का article Tally क्या है और कैसे सीखे Comment Box में Comment करके ज़रूर बताएं साथ ही इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ताकि वे भी Tally के बारे में जाने।

अगर आपको हमारे Article में Tally से संबंधित कोई भी सवाल पूछना हो तो हमे जरूर बताएं हम आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे साथ ही हमारी Chouraha.com की Website को जरूर Subscribe करे।

तो Friends आज के लिए बस इतना फिर मिलेंगे आपसे कुछ और महत्वपूर्ण Article के साथ तब तक के लिए धन्यवाद।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *